Wednesday, 20 June 2018, 5:41 AM

धर्म कर्म

...और मोरया के साथ हमेशा के लिए जुड़ गया गणपति का नाम

Updated on 16 September, 2013, 18:01
पुणे गणपति की अराधना में उनके हर भक्त की जुबान से ‘गणपति बप्पा मोरया, मंगलमूर्ति मोरया’, यही जयकारा सुनने को मिलता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि कहां से हुइ इस जयकारे की उत्पत्ति. इसकी एक रोचक कहानी है. ये कहानी है एक भक्‍त और भगवान की, जहां भक्‍त की... आगे पढ़े

पूरी दुनिया को रचने वाले 'इंजीनियर' हैं भगवान विश्वकर्मा

Updated on 16 September, 2013, 7:03
नई दिल्ली हिंदू धर्म में मानव विकास को धार्मिक व्यवस्था के रूप में जीवन से जोड़ने के लिए विभिन्न अवतारों का विधान मिलता है. इन्हीं अवतारों में से एक भगवान विश्वकर्मा को दुनिया का इंजीनियर माना गया है. इसका मतलब यह है कि पूरी दुनिया का ढांचा उन्होंने ही तैयार किया... आगे पढ़े

केदारनाथ में शुरू हुई शुद्धिकरण पूजा, शुद्धिकरण के बाद बाबा केदार का होगा जलाभिषेक

Updated on 11 September, 2013, 8:17
केदारनाथ उत्तराखंड में सैकड़ों तीर्थयात्रियों और स्थानीय लोगों की जान लेने वाली आपदा के 86 दिन बाद केदारनाथ मंदिर में आज से एक बार फिर पूजा शुरु हो गई है. हिमालयी तीर्थस्थल के गर्भ गृह को केदरनाथ-बद्रीनाथ समिति और प्रशासनिक अधिकारियों की टीम के निरीक्षण में सजाया संवारा गया है. इससे पहले मंगलवार... आगे पढ़े

गणपति की पूजा से बरसेगा धन, पूरी होगी हर कामना

Updated on 9 September, 2013, 0:03
नई दिल्ली घर में जब हो गणपति का वास तो हर मुश्किल आसान हो जाती है और अगर दिन हो गणेश चतुर्थी का, उत्सव हो गणपति की आराधना का तो बाप्पा की कृपा पाने का इससे अच्छा मौका भला और क्या हो सकता है. भाद्रपद शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि यानी गणपति... आगे पढ़े

अमर सुहाग की कामना का पर्व है 'तीज'

Updated on 8 September, 2013, 9:58
पटना भारतीय महिलाएं अपने पति की दीर्घायु और उनकी रक्षा के लिए साल भर कोई न कोई व्रत करती रहती हैं. भादो महीने में मनाई जाने वाली तीज इन पर्वों में प्रमुख मानी जाती है. देशभर में, खासकर उत्तरी हिस्सों में तीज पर्व की खूब चहल-पहल है. जब तीज की बात हो,... आगे पढ़े

क्यों गणेश से होता है शुभ कार्य का शुभारंभ?

Updated on 7 September, 2013, 8:25
नई दिल्ली अकसर लोग किसी शुभ कार्य को शुरू करने से पहले संकल्प करते हैं और उस संकल्प को कार्य रूप देते समय कहते हैं कि हमने अमुक कार्य का श्रीगणेश किया. कुछ लोग कार्य का शुभारंभ करते समय सर्वप्रथम श्रीगणेशाय नम: लिखते हैं. यहां तक कि पत्रादि लिखते समय भी... आगे पढ़े

केदरानाथ मंदिर में 11 से शुरू होगी पूजा-अर्चना

Updated on 2 September, 2013, 10:50
देहरादून उत्तराखंड के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा ने कहा कि राज्य में जून के मध्य में आई जल प्रलय के बाद से केदारनाथ में बंद पड़ी पूजा अर्चना 11 सितंबर से शुरू होगी। उन्होंने कहा कि पूजा सुबह सात बजे से पूर्वाह्न 11 बजे के बीच होगी और दीवाली पर मंदिर... आगे पढ़े

अदभुत रूप में दर्शन देते हैं शनि महाराज

Updated on 1 September, 2013, 8:02
नई दिल्‍ली सुनने में ये बात आपको हैरान कर सकती है कि सिंदूरी शनि महाराज 16 श्रृंगार में साक्षात दर्शन देते हैं. क्योंकि आमतौर पर शनि मंदिरों में शनि देव की काले पत्थर की प्रतिमा या शिला के बिना किसी श्रृंगार के दर्शन होते हैं, लेकिन इंदौर के जूनी शनि मंदिर... आगे पढ़े

श्रीकृष्ण जन्म पर झूमी मथुरा नगरी

Updated on 29 August, 2013, 14:09
मथुरा श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर श्रीकृष्ण की जन्मस्थली मथुरा-वृंदावन में विभिन्न प्रकार के आयोजनों की धूम रही. बुधवार मध्य रात्रि बारह बजे घड़ी की सुइयां एकसीध में आते ही लोग झूम उठे और वातावरण में बस एक ही स्वर गूंजने लगा ‘नन्द के आनंद भए, जय कन्हैया लाल की.’ अब... आगे पढ़े

इस जन्माष्टमी पर आसान नहीं होगा मुरली वाले को प्रसन्न करना

Updated on 28 August, 2013, 10:44
नई दिल्ली देशभर में आज जन्माष्टमी की धूम है. आज रात भगवान श्रीकृष्ण जन्म लेंगे. जगह-जगह भगवान की पूजा-अर्चना की विषेश व्यवस्था की गई है. जन्माष्टमी की पूजा और व्रत का भी खास महत्व होता है. रात के 12 बजे कान्हा लेते हैं जन्म रात 12 बजे जैसे ही धरती पर कान्हा के... आगे पढ़े

मथुरा: बालगोपाल को लगेगा 125 मन लड्डुओं का भोग

Updated on 27 August, 2013, 14:16
मथुरा ब्रज के मंदिरों में कृष्ण कन्हैया के जन्म की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। मथुरा स्थित श्रीकृष्ण जन्मस्थान व अन्य सभी मंदिरों में जहां 28 अगस्त को ही जन्माष्टमी पर्व मनाया जाएगा, वहीं नंदगांव के नंदभवन मंदिर में कृष्ण जन्मोत्सव 29 अगस्त की मध्य रात्रि को ही मनाया जाएगा। बरसों... आगे पढ़े

27 साल बाद विशेष योग में होगा कान्हा का जन्म

Updated on 25 August, 2013, 15:46
लखनऊ भगवान श्रीकृष्ण के भक्तों के लिए जन्माष्टमी का पर्व इस बार विशेष फलदायी बनकर आया है. 27 वर्ष बाद नक्षत्र, गृह और दिन का विशेष योग बना है जिसमें भगवान का जन्म होगा. पुराणों में वर्णित है कि श्रीकृष्ण का जन्म बुधवार को हुआ था और 28 अगस्त को बुधवार ही... आगे पढ़े

छड़ी मुबारक पहुंची पवित्र गुफा, अमरनाथ यात्रा खत्‍म

Updated on 22 August, 2013, 14:36
श्रीनगर भगवान शिव की ‘छड़ी मुबारक’ पवित्र गुफा पहुंचने के साथ ही बुधवार को श्रावण पूर्णिमा के अवसर पर वाषिर्क अमरनाथ तीर्थयात्रा का समापन हो गया. अधिकारियों ने बताया, ‘वाषिर्क अमरनाथ तीर्थयात्रा का शुक्रवार को समापन हो गया. छड़ी मुबारक के संरक्षक महंत दीपेन्द्र गिरि उन लोगों में शामिल थे जिन्होंने 55... आगे पढ़े

रक्षाबंधन:आज और कल दो दिन बंधेगी राखी

Updated on 20 August, 2013, 5:46
भोपाल रक्षाबंधन पर्व इस बार मंगलवार और बुधवार दोनों दिन मनेगा। मंगलवार सुबह 10.22 से रात 8.46 बजे तक भद्रा है। इसमें राखी बंधवाना अशुभ माना जाता है। रात 8.47 बजे से श्रेष्ठ मुहूर्त रहेगा। बुधवार को उदया तिथि में पूर्णिमा रहने से इस दिन भी राखी बंधवाई जा सकती है।   मुहूर्त मंगलवार-... आगे पढ़े

रक्षाबंधन: ..जब इंद्र ने शचि से बंधवाई थी राखी

Updated on 19 August, 2013, 22:04
नई दिल्ली मेले और त्योहारों के देश भारत में हर त्योहार पौराणिक कथाओं से जुड़े हैं, लेकिन उसका लौकिक अर्थ और महत्व है. ऐसे ही त्योहारों में रक्षाबंधन भी है जिसे श्रावण महीने की पूर्णिमा को मनाया जाता है. आम प्रथा के अनुसार इस अवसर पर बहनें अपने भाई की दाहिनी कलाई... आगे पढ़े

सावन का आखिरी सोमवार, शिवमंदिरों में उमड़े श्रद्धालु

Updated on 19 August, 2013, 16:32
लखनऊ सावन के आखिरी सोमवार के पर राजधानी लखनऊ सहित उत्तर प्रदेश के शिवमंदिरों और शिवालयों में भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा। चारों ओर बम बम भोले और हर हर महादेव की गूंज सुनाई दी। भगवान शिव के बारह ज्योतिर्लिगों में एक, वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर मे सुबह से ही... आगे पढ़े

पारद शिवलिंग : दर्शन मात्र से ही मिलता है मोक्ष

Updated on 19 August, 2013, 15:35
“रसात्परतरं लिंगम् न भूतो न भविष्यति ” अर्थात् पारदेश्वर से श्रेष्ठ शिवलिंग न हुआ है और न ही होगा । पारद शिवलिंग दर्शन मात्र से ही सुयश, आजीविका में सफलता, सम्मान, पद प्रतिष्ठा एवम् लक्ष्मी का सतत् आगमन होता है ।   भारतीय संस्कृति का वैशिष्ट्य है कि इसका निर्माण आध्यात्म... आगे पढ़े

अमरनाथ यात्रा फिर शुरू, 255 श्रद्धालुओं का जत्था रवाना

Updated on 17 August, 2013, 15:43
जम्मू पिछले दो दिन से रुकी अमरनाथ यात्रा आज फिर शुरू हो गई। 255 श्रद्धालुओं के जत्थे को जम्मू से अमरनाथ की पवित्र गुफा के दर्शन के लिए रवाना किया गया। खराब मौसम के कारण 15 अगस्त से जम्मू से यात्रा रोक दी गई थी।    पुलिस अधिकारियों ने कहा कि कुल 255... आगे पढ़े

मनसा देवी की कृपा से बनेंगे सारे काम...

Updated on 17 August, 2013, 10:23
हरिद्वार देवी का एक ऐसा धाम है, जहां दर्शन मात्र से और जिनका नाम लेने भर से भक्तों की मन्नतें पूरी हो जाती हैं. ये हैं हरिद्वार की मां मनसा. मां नाम के अनुरूप ही भक्तों की समस्त मंशाओं को पूरी कर देती हैं. अगर आपकी कुंडली में कालसर्प दोष का साया... आगे पढ़े

अमरनाथ के लिए रवाना हुई ‘छड़ी मुबारक’

Updated on 16 August, 2013, 16:53
श्रीनगर भगवान शिव की प्रसिद्ध ‘छड़ी मुबारक’ को 55 दिन तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा के अंतिम चरण में आज दक्षिण कश्मीर के हिमालय में 3,880 मीटर की ऊंचाई पर स्थित अमरनाथ गुफा मंदिर के लिए ले जाया गया। भगवा वस्त्र से सजी छड़ी मुबारक को इसके संरक्षक महंत दीपेंद्र गिरी... आगे पढ़े

मेहकर में पाएं बालाजी संग ब्रह्मा और विष्णु के दर्शन

Updated on 15 August, 2013, 11:26
नागपुर सावन के महीने में महादेव के दर्शनों की चाह हर भक्त के मन में होती है, लेकिन अगर आपको महादेव के साथ-साथ ब्रह्मा और विष्णु के भी दर्शन हो जाएं, तो सोने पर सुहागे वाली बात हो जाए. मेहकर के शारंगधर बालाजी के दरबार में जहां बालाजी का दिव्य रूप... आगे पढ़े

धरती की कुंडली पर कालसर्प दोष का साया

Updated on 14 August, 2013, 8:48
नई दिल्ली काशी में अपने ज्योतिष अनुभवों से ग्रहों की चाल मापने वाले ज्योतिषशास्त्रियों की नजर में हिंदुस्तान से लेकर विदेश तक जो भी बाढ़ और बारिश का प्रकोप देखने को मिल रहा है, उनके पीछे हैं चार ग्रहों का खेल. ये ग्रह हैं बुध, शुक्र, मंगल और बृहस्पति.  सारा किया... आगे पढ़े

आज के दिन अवतार लेंगे कल्कि भगवान

Updated on 12 August, 2013, 17:44
भगवान विष्णु के अब तक नौ अवतार हो चुके हैं और दसवें अवतार की प्रतीक्षा चल रही है। पुराणों में भगवान के दसवें अवतार की जो तिथि बतायी गयी है उसके अनुसार भगवान सावन मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को जन्म लेंगे। यह पावन तिथि इस वर्ष आज है।... आगे पढ़े

सिर्फ स्त्रियां ही क्यों मनाती हैं तीज?

Updated on 10 August, 2013, 17:02
हरियाली तीज प्रकृति से एकाकार होने का पर्व है। आखिर यह पर्व सिर्फ स्त्रियां ही क्यों मनाती हैं ? जवाब है कि मेल मिलाप का गुण सिर्फ स्त्री के ही पास है। वही प्रकृति की तरह बन सकती है। पुरुष तो अपने अहं में ही उलझा रहता है। स्त्रियां ही तीज... आगे पढ़े

सावन के महीने में क्यों होती है नागों की पूजा

Updated on 10 August, 2013, 17:00
भले ही लोग साल भर सांप को देखते ही लाठी डंडे लेकर मारने दौड़ते हों लेकिन सावन एक ऐसा महीना है जब सांपों को मारने की बजाय उनका दर्शन ईश्वर के दर्शन के समान पुण्यदायी माना जाता है। इस महीने में सांप को मारने की बजाय लोग उसे दूध और... आगे पढ़े

दूध की कटोरी से नागिन हुई प्रसन्न

Updated on 10 August, 2013, 16:58
नागपंचमी के दिन नागों की पूजा की जाती है। मगर यह पूजा क्यों की जाती है? दरअसल नागों की पूजा से संबंधित कई कथाएं अलग-अलग क्षेत्रों में सुनी-सुनाई जाती है। इन कथाओं में नागपंचमी पूजन का महत्व एवं इसकी शुरूआत कैसे हुई यह बताया गया है। पहली कथाः दूध की कटोरी... आगे पढ़े

...यहां तिल के अभिषेक से प्रसन्‍न हो जाते हैं शिव

Updated on 8 August, 2013, 13:32
नई दिल्‍ली देवों के देव महादेव की पसंद और नापसंद भी बिल्कुल अलग है. तिलकेश्वर महादेव देखने में भले ही किसी भी दूसरे मंदिर में विराजने वाले शिव की तरह लगें, लेकिन इन्हें प्रसन्न करना आसान नहीं. तिलकेश्वर महादेव के नाम में छिपी है वो कहानी जिसकी वजह से देश के शिव... आगे पढ़े

जानें कैसे शुरू हुई कांवड़ परंपरा?

Updated on 5 August, 2013, 17:30
मुजफरनगर भगवान परशुराम ने अपने आराध्य देव शिव के नियमित पूजन के लिए पुरा महादेव में मंदिर की स्थापना कर कांवड़ में गंगाजल से पूजन कर कांवड़ परंपरा की शुरुआत की जो आज भी देशभर में काफी प्रचलित है. पंडित विनोद पाराशर ने कहा कि कांवड़ की परंपरा चलाने वाले भगवान... आगे पढ़े

केदारनाथ में अब होगी आस्‍था की नई ‘दिव्‍य शिला’ की भी पूजा

Updated on 5 August, 2013, 0:04
जोशीमठ केदारनाथ में पूजा शुरू होने में अभी एक महीने से ज्यादा वक्त बचा है. लेकिन इस बार जब मंदिर खुलेगा, तो उसके साथ आस्था का एक नया धाम भी खुलेगा. अब केदार में एक ऐसी शक्ति की पूजा शुरू होगी, जिसने महाविनाश में भगवान केदार के मंदिर की सुरक्षा की. 16... आगे पढ़े

कांगड़ा के ब्रजरेश्वरी शक्तिपीठ में मां हर लेती है भक्‍तों के हर दुख

Updated on 2 August, 2013, 21:32
नई दिल्‍ली कांगड़ा का ब्रजरेश्वरी शक्तिपीठ मां का एक ऐसा धाम है जहां पहुंच कर भक्तों का हर दुख उनकी तकलीफ मां की एक झलक भर देखने से दूर हो जाती है. यह 52 शक्तिपीठों में से मां की वो शक्तिपीठ जहां सती का दाहिना वक्ष गिरा था और जहां तीन... आगे पढ़े

राशिफल

मूवी रिव्यू