नॉटिंघम। भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धौनी इस बात से हैरान थे कि इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे वनडे में उनके स्पिनर पिच से इतना टर्न हासिल करने में सफल रहे। उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसी पिचों पर ऐसा ही प्रदर्शन जारी रखना होगा जो इतनी मददगार नहीं होंगी। भारत ने इस मैच में जीत से पांच मैचों की सीरीज में 2-0 की बढ़त ले ली है।

धौनी ने कहा, 'कुछ ऐसे क्षेत्र हैं, जहां थोड़ी चिंता अब भी बनी हुई है। हमें अब भी गेंदबाजी पर काम करने की जरूरत है। विशेषकर उन विकेटों पर जहां कोई टर्न नहीं है और स्पिनर इतने प्रभावी नहीं हैं। अगर मध्य के ओवरों में आप विकेट नहीं ले पाते हैं तो इससे सचमुच गेंदबाजों पर काफी दबाव बन जाता है।

कप्तान ने कहा कि मैं इस बात से हैरान था कि ट्रेंटब्रिज का विकेट कितना टर्न ले रहा था। इसने सचमुच स्पिनरों को खेल में अहम बना दिया। मैंने कभी नहीं सोचा था कि पिच स्पिन लेगी। अश्विन और रवींद्र जडेजा ने काफी अच्छा किया, लेकिन मोहित की चोट के बाद रैना का स्पैल भी अहम था। रायुडू और रैना ने एक-एक विकेट चटकाया, जबकि बल्लेबाजी में क्रमश: नाबाद 64 और 42 रन का योगदान दिया।

उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर यह एक अच्छी टीम दिखती है। अगर आप बल्लेबाजी क्रम ही देखो तो यह शानदार है। अगर रोहित शर्मा शीर्षक्रम में फिट हो जाता है और अगर वह मध्यक्रम में खेलता है तो भी यह अच्छा है। यह पूरी टीम का शानदार प्रदर्शन था। गेंदबाजी के अलावा क्षेत्ररक्षण भी अच्छा था। इयान बेल का विकेट उस समय काफी अहम था और रैना का स्लिप में लिया कैच भी अद्भुत था। ये चीजें सचमुच बतौर टीम मनोबल बढ़ाने में मदद करती हैं। कप्तान ने कहा कि रायुडू वनडे टीम में चौथे स्थान का दावेदार है। रायुडू ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। हमें अब भी चौथे नंबर के बल्लेबाज की तलाश है और यहां कुछ विकल्प हैं।

Source ¦¦ agency