मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव को कुछ ही महीने रह गए हैं। सभी पार्टियों ने चुनाव की तौयारियां शुरू कर दी है। वहीं, प्रदेश में चुनाव को लेकर बड़े दिग्गज नेताओं का आना-जाना भी लगा हुआ है। जानकारी के लिए बता दें 5 अक्टूबर को पीएम मोदी जबलपुर दौरे पर रहेंगे। इस दिन पीएम मोदी रानी दुर्गावती स्मारक का भूमि पूजन करेगें। पार्टी कार्यकर्ताओ और निगम प्रशासन ने कर्मचारियों को कार्यक्रम की तैयारियों में जुटने के निर्देश दिए गए हैं। हालांकि पीएमओ से 5 अक्टूबर के दौरे के लिए अंतिम सहमति मिलना अभी बाकी है।

इस दौरान 100 करोड़ रुपये से मदन महल की पहाड़ी पर रानी दुर्गावती के भव्य स्मारक का भूमिपूजन होगा। 1857 की क्रांति के नायक राजा शंकर शाह और कुंवर रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की कि 100 करोड़ रुपये से मदन महल की पहाड़ी पर रानी दुर्गावती का भव्य स्मारक बनाया जाएगा। 5 अक्टूबर को रानी की 500वीं जयंती पर इसका भूमिपूजन होगा। सीएम ने कहा कि रानी दुर्गावती ने अपने शौर्य एवं सामर्थ्य से एक विशाल साम्राज्य की स्थापना की थी.भव्य स्मारक रानी दुर्गावती के उसी शौर्य, वीरता, सेवा, सुशासन एवं गौरव का प्रतीक होगा।

Also Read – Mandi Bhav: मंडी में गेहूं-सोयाबीन सरसों में उतार-चढ़ाव, दालों-चना में तेजी की उम्मीद, जानें आज का लेटेस्ट रेट

बताते चले कि मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव में अब 100 दिन से भी कम समय बचा है। ऐसे में भाजपा और कांग्रेस ने उन 78 सीटों पर अपना फोकस बढ़ा दिया है, जहां आदिवासी वोटर ही जीत-हार का फैसला करते हैं। इनमें से 47 सीटें आदिवासियों के लिए रिजर्व हैं। दोनों ही दलों की चिंता की बड़ी वजह यह है कि आदिवासी समुदाय का रुझान फिलहाल बेहद नकारात्मक दिख रहा है। इसी के चलते बीजेपी ने अपने दोनों दिग्गज नेताओं पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को एक साथ आदिवासी वोटरों की पिच पर बैटिंग के लिए उतार दिया है। कांग्रेस भी प्रियंका गांधी और राहुल गांधी को आदिवासियों के बीच उतारने की तैयारी में है।